उपग्रह किसे कहते हैं – उपग्रह के प्रकार और उपयोग

नमस्कार दोस्तों theenotes.com पर आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है आज की इस लेख में हमें जानने वाले हैं कि उपग्रह किसे कहते हैं  साथ ही हम उपग्रह के प्रकार और और उपग्रह के उपयोग के बारे में जानेंगे –

जैसा की हम सभी जानते हैं कि, सूर्य के चारों ओर अपनी-अपनी निर्धारित कक्षा में चक्कर लगाने वाले आकाशीय पिंडों को ग्रह कहा जाता है। ठीक इसी प्रकार ग्रहों के चारो ओर चक्कर लगाने वाले पिंड उपग्रह कहलाते हैं, तो आईये विस्तार से जानते हैं कि, उपग्रह किसे कहते हैं।

उपग्रह किसे कहते हैं

ग्रहों के गुरुत्वीय क्षेत्र के चारों ओर चक्कर लगाने वाले आकाशीय पिंडों को उपग्रह यानी सैटेलाइट कहते हैं
पृथ्वी के आस-पास या फिर पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाने वाले पिंड भू–उपग्रह कहलाते हैं।
इन उपग्रहों की पृथ्वी के चारो ओर कक्षाएँ वृत्त अथवा दीर्घ वृत्त  के आकार में होती है। भू–उपग्रह की गति तथा  सूर्य के गति के लगभग समान होती है। आइए जानते हैं कि उपग्रह के कितने प्रकार होते हैं।

उपग्रह के  प्रकार:

उपग्रह के प्रकार दो होते है।

  1. प्राकृतिक उपग्रह
  2. कृत्रिम उपग्रह

प्राकृतिक उपग्रह किसे कहते हैं? (Natural Satellite)

ग्रहों के निर्धारित कक्षाओं में  चारो ओर चक्कर लगाने वाले प्राकृतिक आकाशीय पिंडों को प्राकृतिक उपग्रह कहा जाता है। जिसे हम English में (Natural Satellite) कहते है।
जैसे:-चन्द्रमा, हमारे पृथ्वी का एक  उपग्रह है।
चन्द्रमा की पृथ्वी के चारो ओर एक वृत्त की आकार की एक कक्षा होती है। चंद्रमा को पृथ्वी का एक चक्कर लगाने में कुल  27.3 दिन लगता  है।

कृत्रिम उपग्रह किसे कहते हैं? (Synthetic Satellite)

मानव के द्वारा बनाए गए वे पिंड जो पृथ्वी या किसी ग्रह के चारों ओर अपने निर्धारित कक्षा में चक्कर लगाता है। इस प्रकार के ग्रह को  हम  कृत्रिम  उपग्रह कहते हैं।
अलग-अलग देशों से  कई बार विभिन्न प्रकार के सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजे जाते है। जो पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाते रहते है और हमारे वैज्ञानिकों को अलग-अलग प्रकार की जानकारी प्रदान करती है। जिससे हमारा मानव जीवन और बेहतर हो सके और जिन चीजों के बारे में भी वह पर्याप्त जानकारी नहीं रखते हैं उन चीजों के बारे में और भी जानकारी इकट्ठा कर पाए और उसे  अच्छी तरह से समझते हैं।

  1. यह भी पढ़ें – ग्रहों के नाम

उपग्रहों का उपयोग (Uses Of Satellite) :-

अब हम उपग्रहों के कुछ उपयोग के बारे में जानेंगे। यहाँ पर उपग्रहों के उपयोग (access of satellite) के बारे में यहाँ पर बताया गया है।

संचार व्यवस्था में-

आज प्रतिदिन इस पूरी दुनिया में विभिन्न प्रकार की संचार हो रही हैं इन संचार को अच्छे तरीके से कार्य करने के लिए कुछ उपग्रहों की भूमिका बहुत ही महत्त्वपूर्ण है इन्हीं के कारण हम टेलीविजन पर कोई भी प्रोग्राम  बिना किसी रुकावट के, मोबाइल पर कोई भी बातचीत और इंटरनेट जैसे साधनों का हम उपयोग बड़ी ही आसानी से कर पा रहे हैं।

मौसम की जानकारी-

मौसम के हुए अचानक बदलाव, किसी आपदा की जानकारी या फिर मौसम सम्बंधित अनेको प्रकार की गतिविधियों की जानकारी के लिए भी satellite का उपयोग किया जाता हैं।  उल्कापिंडों एवं विभिन्न खगोलीय गतिविधियों तथा उनके  बदलाव के अध्ययन के लिए भी कई उपग्रहो का प्रयोग किया जाता है।

वायुमंडल अध्ययन-

जिस पृथ्वी पर आज मानव अस्तित्व ज़िंदा है उस पृथ्वी के वायुमंडल में होने वाली विभिन्न घटनाओं  के अध्ययन में भी satellite अहम भूमिका  निभाती है।

जासूसी कार्य-

आज हर एक देश दूसरे देश पर नज़र रखे हुए हैं कि वह किस प्रकार के कार्य कर रहे है।  वह अपनी देश में किस प्रकार की नीतिया अपना रहा है ? इस प्रकार की जासूसी करने के लिए भी हमारे उपग्रह बहुत ही मददगार साबित होते है।

निष्कर्ष- उम्मीद करता हूँ कि आप सभी ने उपग्रह किसे कहते है? यानी इस लेख से आपने कुछ नया जाना होगा। अगर आपके पास अभी भी कोई सवाल या सुझाव हो तो आप अपना कीमती सुझाव हमें दे सकते है। इस ब्लॉग पर अपना कीमती समय देने के लिए आप का धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो।

Leave a Comment