मौखिक भाषा किसे कहते हैं? – Maukhik bhasha kise kehte hain

प्रिय पाठक! एक बार फिर से स्वागत है आपका the eNotes के एक नये आर्टिकल में, इस आर्टिकल में हम पढेंगे कि मौखिक भाषा किसे कहते हैं? (Maukhik bhasha kise kehte hain) इससे पहले के आर्टिकल में हमने पढ़ा था कि भाषा किसे कहते हैं।

भाषा-जैसा की हम सबही जानते है कि अपने विचारों को एक दुसरे के समक्ष प्रकट करने का भाव भाषा कहलाता है। और हम यह भी जानते हैं कि भाषा 3 प्रकार के होते हैं– (मौखिक भाषा, लिखित भाषा और सांकेतिक भाषा) जिनमे से आज हम पढ़ेंगे कि मौखिक भाषा किसे कहते हैं?

यह भी पढ़ें – भाषा किसे कहते हैं?

मौखिक भाषा किसे कहते हैं? Maukhik bhasha kise kehte hain

भाषा का वह रूप जिसमें व्यक्ति अपने विचारो को बोलकर प्रकट करता है और दूसरा व्यक्ति सुनकर उसे समझता है। मौखिक भाषा कहलाती है। इसमें वक्ता बोलकर अपनी बात कहता है व श्रोता सुनकर उसकी बात समझता है। जैसे-वार्तालाप, टेलीफोन पर बातचीत, भाषण व रेडिओ सुनना आदि (आइये इसे एक उदाहरण के साथ समझते हैं)

मौखिक भाषा किसे कहते हैं
मौखिक भाषा किसे कहते हैं

उदाहरण- आज राम के विद्यालय में वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन हुआ था। जिसमे वक्ताओं ने बोलकर तथा श्रोताओं ने सुनकर आनंद उठाया।

उपर्युक्त उदाहरण में वक्ता के बोलने पर जब श्रोता उसे समझता है, तो इन दोनों के बीच अपनी भावनाओं को समझने का जो माध्यम है, वह मौखिक भाषा है। मौखिक भाषा में वक्ता अपनी बातें बोलकर कहता है।

यह भी पढ़ें – लिखित भाषा किसे कहते हैं?

Maukhik bhasha kise kehte hain

मौखिक भाषा के माध्यम

मौखिक भाषा को समझने या समझाने का माध्यम मौखिक भाषा का माध्यम होता है, यहाँ कुछ मुख्य माध्यमों के बारे में बताया गया है।

वार्तालाप-

मौखिक भाषा का मुख्य माध्यम बातचीत (वार्तालाप) है, जब हम अपने मन के भाव या अपनी बात किसी के समक्ष प्रकट करते हैं तो यहाँ पर अपनी भावों को प्रकट करने का सबसे आसान तरीक़ा मौखिकी भाषा होता है।

टेलीफोन पर बातचीत-

जब हम किसी से टेलीफोन या विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अपनी बात दुसरे के समक्ष रखते हैं तो यह भी मौखिक भाषा का एक माध्यम होता है।

भाषण व रेडिओ सुनना-

जब हम टीवी या रेडिओ पर भाषण या कोई संगीत सुनते हैं तो वह भी मौखिक भाषा का ही एक माध्यम होता है।

निष्कर्ष-

इस आर्टिकल में हमने पढ़ा की मौखिक भाषा किसे कहते हैं, हमे उम्मीद है कि मौखिक भाषा का यह आर्टिकल आपको आवश्य समझ आया होगा। अगर फिर भी समजने में कोई समस्या आ रही हो तो विडियो देखें या कमेंट बॉक्स में पूछें।

 

the eNotes रिसर्च के बाद जानकारी उपलब्ध कराता है, इस बीच पोस्ट पब्लिश करने में अगर कोई पॉइंट छुट गया हो, स्पेल्लिंग मिस्टेक हो, या फिर आप-आप कोई अन्य प्रश्न का उत्तर ढूढ़ रहें है तो उसे कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएँ अथवा हमें [email protected] पर मेल करें। हिन्दी व्याकरण से जुड़े अन्य आर्टिकल पढने के लिए the eNotes को टेलीग्राम पर फॉलो करें।

Leave a Comment