विशेषण किसे कहते हैं – विशेषण के 4 भेद और उदाहरण

प्रिय पाठक! स्वागत है आपका the eNotes के एक नये आर्टिकल में, इस आर्टिकल में हम पढेंगे की विशेषण किसे कहते हैं-Visheshan kise kahate hain इससे पहले हमने संज्ञा किसे कहते हैं और सर्वनाम किसे कहते हैं पढ़ चुके हैं।

यह भी पढ़े – लिंग किसे कहते हैं, यह कितने प्रकार के होते हैं?

 

विशेषण किसे कहते हैं – Visheshan kise kahate hain

(Visheshan in Hindi) – संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताने वाले शब्द को विशेषण कहते हैं। और जिसकी विशेषता बताई जा रही हो उसे विशेष्य कहते हैं।

सर्वनाम विकारी अविकारी दोनों होते हैं, लेकिन अविकारी विशेषण के रूपों में कोई परिवर्तन नहीं होता है, विशेषण वस्तु या व्यक्ति के बोध को सीमित कर देता है। आईये इसे कुछ उदाहरण से समझते हैं।

विशेषण किसे कहते हैं

विशेषण के उदाहरण

  • मोटा लड़का हंस पड़ा।
  • अर्चना अत्यंत सुन्दर है।
  • राम तेज दौड़ता है।
  • रोहन सुंदर लिखता है।
  • सीता अच्छा गति है।

विशेषण के भेद – Visheshan Ke Prakar

संख्या तथा परिणाम के आधार पर विशेषण के चार भेद होते हैं।

  1. परिणामबोधक विशेषण
  2. संख्यावाचक विशेषण
  3. गुणवाचक विशेषण
  4. मौलिक सार्वनामिक विशेषण

यह भी पढ़े- कारक किसे कहते हैं, कारक के भेद

परिणामबोधक विशेषण किसे कहते हैं

जिन विशेषणों से संज्ञा तथा सर्वनाम के परिणाम का बोध होता है उसे परिणाम बोधक विशेषण कहते हैं। यह दो प्रकार के होते हैं

निश्चित परिणाम बोधक सर्वनाम: 10 kg. चावल, 20 kg गेंहूँ आदि
अनिश्चित परिणाम बोधक सर्वनाम: थोडा दुध, बहुत पानी

संख्यावाचक विशेषण किसे कहते हैं

जो शब्द संज्ञा अथवा सर्वनाम की संख्या का बोध कराते हैं, उन्हें संख्यावाचक विशेषण कहा जाता है। ये दो प्रकार के होते हैं।

निश्चित संख्यावाचक: इनसे निश्चित संख्या का बोध होता है। जैसे-दस लड़के, बीस आदमी, पचास रुपये आदि
अनिश्चित संख्यावाचक: इनसे अनिश्चित संख्या का बोध होता है। जैसे कुछ आदमी, कई लोग, सब कुछ आदि

यह भी पढ़े- संज्ञा किसे कहते हैं, संज्ञा के भेद

गुणवाचक विशेषण (Adjective of Quality)

जो शब्द संज्ञा अथवा सर्वनाम के गुण-धर्म, स्वभाव का बोध कराते हैं, उन्हें गुणवाचक सर्वनाम कहते हैं। गुणवाचक विशेषण अनेक प्रकार के हो सकते हैं। जैसे

कालबोधक- नया, पुराना, ताजा, मौसमी, प्राचीन।
रंगबोधक- लाल, पीला, काला, नीला, बैंगनी, हरा।
दशाबोधक- मोटा, पतला, युवा, वृद्ध, गीला, सूखा।
गुणबोधक- अच्छा, भला, बुरा, कपटी, झूठा, सच्चा, पापी, न्यायी, सीधा, सरल।
आकारबोधक- गोल, चौकोर, तिकोना, लम्बा, चौड़ा, नुकीला,  सुडौल, पतला, मोटा।

सार्वनामिक विशेषण किसे कहते हैं

विशेषण के रूप में प्रयुक्त होने वाले सर्वनाम को सार्वनामिक विशेषण कहा जाता है। इनके दो उपभेद हैं

मौलिक सार्वनामिक विशेषण: जो सर्वनाम बिना रूपान्तर के मौलिक रूप में संज्ञा के पहले आकर उसकी विशेषता बतलाते हैं उन्हें इस वर्ग में रखा जाता है। जैसे – यह घर मेरा है, वह किताब फटी है, कोई आदमी रो रहा है।

यौगिक सार्वनामिक विशेषण: जो सर्वनाम रूपान्तरित होकर संज्ञा शब्दों की विशेषता बतलाते हैं, उन्हें यौगिक सार्वनामिक विशेषण कहा जाता है। जैसे- ऐसा आदमी नहीं देखा, कैसा घर चाहिए, जैसा देश वैसा भेष।

यह भी पढ़े- अलंकार किसे कहते हैं, अलंकार के भेद

Conclusion-

इस आर्टिकल में अपने पढ़ा की Visheshan kise kahate hain विशेषण किसे कहते हैं साथ ही आपने विशेषण के भेद आदि के बारे में पढ़ा। हमे उम्मीद है कि विशेषण के लिए यह आर्टिकल आपको आवश्य समझ आई होगा, अधिक जानकरी के लिए विडियो देखें।

Disclaimer: the eNotes रिसर्च के बाद जानकारी उपलब्ध कराता है, इस बीच पोस्ट पब्लिश करने में अगर कोई पॉइंट छुट गया हो, स्पेल्लिंग मिस्टेक हो, या फिर आप-आप कोई अन्य प्रश्न का उत्तर ढूढ़ रहें है तो उसे कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएँ अथवा हमें [email protected] पर मेल करें। सामान्य हिन्दी से जुड़े अन्य आर्टिकल पढने के लिए the eNotes को टेलीग्राम पर फॉलो करें।

Leave a Comment