सौरमंडल किसे कहते हैं? सौरमंडल के 8 ग्रहों के नाम

नमस्ते दोस्तों स्वागत है आपका the eNotes के एक नये आर्टिकल में, इसमें हम जानेंगे कि सौरमंडल किसे कहते हैं और सौरमंडल के ग्रहों के नाम इसके साथ ही हम सौरमंडल के ग्रहों के नाम अंग्रेजी में भी देखेंगे।

सौरमंडल किसे कहते हैं

आकाशगंगा में सूर्य और उसके चारो और चक्कर लगाने वाले ग्रह, उपग्रह, उल्काओं और क्षुद्रग्रहों के समूह को सौरमंडल कहते हैं। सौर मंडल में सूर्य और सभी खगोलीय पिंड गुरुत्वाकर्षण बल द्वारा एक दूसरे से बंधे होते हैं।

सौरमंडल में कुल आठ ग्रह और उनके 172 ज्ञात उपग्रह, पाँच बौने ग्रह और अरबों छोटे पिंड शामिल हैं। आकार में बहुत छोटे होने के कारण प्लूटो को ग्रह की श्रेणी से बौने ग्रह की श्रेणी में गिना जाता है।

सौरमंडल के ग्रहों के नाम

सौरमंडल में कुल 8 ग्रह है, जिनके नाम निम्नलिखित हैं-

  • बुध
  • शुक्र
  • पृथ्वी
  • मंगल
  • बृहस्पति
  • शनि
  • अरुण
  • वरुण

आप पढ़ रहें हैं- सौरमंडल किसे कहते हैं?
यह भी पढ़ें- उपग्रह किसे कहते हैं? उपग्रह के प्रकार और उपयोग

सौरमंडल के ग्रहों के नाम

बुध ग्रह
विकिपीडिया

बुध ग्रह (Mercury) –

यह सूर्य से सबसे नजदीकी और सबसे छोटा ग्रह है। सूर्य की परिक्रमा करने में बुध ग्रह को 88 दिन का समय लगता है। इस ग्रह का अधिकांश सतह स्थलीय है। यहाँ का वातावरण नगण्य है, लिहाजा अन्य ग्रहों की अपेक्षा यहाँ कोई मौसमी अनुभव नहीं है । बुध ग्रह का कोई उपग्रह नहीं है।

शुक्र

शुक्र ग्रह (Venus) –

सौरमंडल में यह सूर्य से दूसरा तथा द्रव्यमान से 7वाँ सबसे बड़ा ग्रह है, इस ग्रह की संरचना और गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी के समान है इसलिए इसे पृथ्वी की बहन की संज्ञा मिली है। सौरमंडल में सूर्य और चंद्रमा के बाद यह सबसे चमकीला आकाशीय पिण्ड है। शुक्र ग्रह को साँझ और भोर का तारा भी कहते हैं। इसे सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में 224.7 दिन का समय लगता है। यह सौरमंडल का सबसे गर्म ग्रह शुक्र है।

पृथ्वी

पृथ्वी ग्रह (Earth) –

यह सौरमंडल का तीसरा ग्रह है, पृथ्वी सौरमंडल का एकमात्र ऐसा ग्रह है जहाँ जीवन संभव है। इसका 71% भाग जल तथा शेष भाग भूमि से ढका हुआ है। इसका वायुमंडल कई परतों से बना हुआ है, जिसमे नाइट्रोजन और आक्सिजन की अधिकता है, इसके अलावा इसका बाहरी  भाग ओजोन की परत से ढका हुआ है, जो सूर्य से आने वाली हानिकारक पराबैंगनी किरणों को रोकती है।

पृथ्वी पर जल की अधिकता होने के कारण यह आकाश से नीला दीखता है, अतः इसे नीला ग्रह भी कहा जाता है। सूर्य से पृथ्वी की दूरी लगभग 15 करोड़ किलोमीटर है, सूर्य का एक चक्कर लगाने में पृथ्वी को 1 साल (365) दिन का समय लगता है। पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह चंद्रमा है।

मंगल

मंगल (Mars) –

दूरी के आधार पर यह सूर्य से चौथा ग्रह है, इसे लाल ग्रह के नाम से भी जाना जाता है। मंगल ग्रह का वातावरण विरल है। मंगल ग्रह पर चंद्रमा की तरह गर्त है, यहाँ की घाटियाँ रेगिस्तान और बर्फीली चोटियाँ पृथ्वी के समान ही है। हमारे सौरमंडल का सबसे ऊंचा पर्वत ओलंपस मोन्स मंगल ग्रह पर स्थित है। इसके अलावा मंगल का घूर्णन काल और मौसमी चक्र पृथ्वी के समान है। अतः वैज्ञानिकों का मानना है कि, पृथ्वी की तरह यहाँ भी जीवन संभव हो सकता है।

आप पढ़ रहें हैं- सौरमंडल किसे कहते हैं?
यह भी पढ़ें- उपग्रह किसे कहते हैं? उपग्रह के प्रकार और उपयोग

बृहस्पति

बृहस्पति (Jupiter) –

दूरी के आधार पर यह सूर्य से पांचवा ग्रह है। जुपिटर सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है। इसका द्रव्यमान सौर मंडल के अन्य ग्रहों के कुल द्रव्यमान का ढाई गुना तथा सूर्य के हजारहवे में भाग के बराबर है। इस ग्रह का नाम रोमन सभ्यता ने अपने देवता जुपिटर के नाम पर रखा था। इस ग्रह के 79 उपग्रह है। सौरमंडल के सबसे बड़ा उपग्रह नाम गिनिमेड है, जो बृहस्पति का ही उपग्रह है।

शनि

शनि (Saturn) –

दूरी के आधार पर यह छठा तथा पूरे सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है। सौरमंडल में सबसे ज़्यादा उपग्रह(82) इसी ग्रह के है।जीसमें टाइटन सबसे बड़ा उपग्रह है। इस ग्रह को गैलीलियो गैलीलि ने दूरबीन से खोजी थी, इसकी खोज प्राचीन काल में ही हो गयी थी। शनि ग्रह की रचना है 75% हाइड्रोजन और 25% हीलियम गैस है। जल, मिथेन, अमोनिया और पत्थर यहाँ बहुत कम मात्रा में पाए जाते हैं।

अरुण

अरुण (Uranus) –

अरुण को युरेनस भी कहते हैं, यह सूर्य से सातवाँ ग्रह है। यह दूरबीन द्वारा पाए जाने वाला पहला ग्रह था। युरेनस प्रत्येक 84 पृथ्वी वर्षों में सूर्य का एक चक्कर लगाता है। सूर्य से इसकी औसत दूरी लगभग 3 अरब किलोमीटर है। युरेनस का द्रव्यमान पृथ्वी की तुलना में 14.5 गुना है।

अन्य वृहदाकार ग्रहों की तुलना में इस ग्रह का तापीय प्रवाह बहुत कम है। युरेनस के 27 ज्ञात प्राकृतिक उपग्रह है। इन सब उपग्रहों के नाम अंग्रेज़ी नाटककार विलियम शेक्सपीयर और लेखक अलेक्ज़ंडर पोप की कहानियों के पात्रों पर रखे गए हैं।

वरुण

वरुण (Neptune) –

वरुण ग्रह को नेपच्यून भी कहा जाता है, सौरमंडल में यह सूर्य से आठवां और अंतिम गृह है। व्यास के आधार पर यह सौर मण्डल का चौथा और द्रव्यमान के आधार पर तीसरा बड़ा ग्रह है। इसका द्रव्यमान पृथ्वी से 17 गुना अधिक है। वरुण को सूरज की एक चक्कर पूरा करने में पृथ्वी के 164.79 वर्ष लगते हैं।

आप पढ़ रहें हैं- सौरमंडल किसे कहते हैं?
यह भी पढ़ें- उपग्रह किसे कहते हैं? उपग्रह के प्रकार और उपयोग

 

सौरमंडल विशेष प्रश्नोत्तरी –

प्रश्न- सौरमंडल किसे कहते हैं?
उत्तर- सूर्य और उसके चारो और चक्कर लगाने वाले ग्रह, उपग्रह, उल्काओं और क्षुद्रग्रहों के समूह को सौरमंडल कहते हैं।

प्रश्न- सौरमंडल की उत्पत्ति कैसे हुई?
उत्तर- सौर मंडल की उत्पत्ति लगभग 5 बिलियन साल पहले सूर्य से हुई।

प्रश्न- हमारे सोलर सिस्टम में कितने ग्रह हैं?
उत्तर- हमारे सोलर सिस्टम में 8 ग्रह है, जिनके नाम (बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुण) हैं।

प्रश्न- सूर्य क्या है ग्रह या उपग्रह?
उत्तर- सूर्य ना ग्रह है और ना ही उपग्रह। सूर्य एक तारा है।

आप पढ़ रहें हैं- सौरमंडल किसे कहते हैं?
यह भी पढ़ें- उपग्रह किसे कहते हैं? उपग्रह के प्रकार और उपयोग

सौरमंडल के ग्रहों के नाम


लेख के बारे में- इस आर्टिकल में आपने पढ़ा कि, सौरमंडल किसे कहते हैं और साथ ही आपने सौरमंडल के ग्रहों के नाम, और ग्रहों के नाम अंग्रेजी में पढ़े हैं| हमें उम्मीद है कि, इस लेख में दी गयी जानकारी आपके लिए आवश्य लाभदायी रही होगी, इस बीच अगर लेख में कही कुछ गलत या स्पेल्लिंग मिस्टेक हो गया हो तो हमें कमेंट के माध्यम से जरुर बताये, आपके इस काम the eNotes की टीम आपकी आभारी रहेगी | इस आर्टिकल पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो!

Leave a Comment