कंप्यूटर की कार्यप्रणाली – How does the computer work?

कंप्यूटर की कार्यप्रणाली

जैसा की हम सभी जानते हैं कि, कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की तरह कंप्यूटर भी इनपुट, प्रॉसेस और आउटपुट सिद्धांत पर काम करता है, और कंप्यूटर की कार्यप्रणाली भी इन्ही तीन चरणों में पूरा होता है। कंप्यूटर को जो भी सूचना या कमांड दिया जाता है उसे इनपुट कहते हैं. उसके बाद इनपुट डेटा पर काम करना प्रोसेस कहलाता है, और अंततः प्रोसेस के बाद प्राप्त रिजल्ट को आउटपुट कहते हैं.

कंप्यूटर को संचालित करने के लिए मुख्य चार उपकरण (मानीटर, सी.पी.यू., की-बोर्ड और माउस) की आवश्यकता होती है. कंप्यूटर की कार्यविधि को समझने के लिए पहले कंप्यूटर के उपकरणों को समझाना होगा, कार्य की दृष्टि से उपकरण तीन प्रकार के होते हैं (इनपुट-प्रोसेस-आउटपुट) कंप्यूटर को संचालित करने वाले चार उपकरणों में उपकरण के प्रकार इस प्रकार हैं –

  • मानीटर- आउटपुट उपकरण
  • CPU- प्रोसेसिंग डिवाइस
  • कीबोर्ड-इनपुट उपकरण
  • माउस- इनपुट उपकरण

 

कंप्यूटर की कार्यविधि – कैसे करता है?

कंप्यूटर की कार्यप्रणाली कुछ इस प्रकार है कि, कंप्यूटर को जो भी कमांड दिया जाता है. उसे इनपुट डिवाइस (कीबोर्ड या माउस) की मदद से दिया जाता है. इनपुट देने के बाद कंप्यूटर CPU की मदद से कमांड पर काम करता है, और आखिरी में मानीटर की मदद से कंप्यूटर हमें रिजल्ट (आउटपुट) डिस्प्ले करता है.

इनपुट क्या होता है?

सिस्टम को जो भी सूचना या निर्देश दिया जाता है इनपुट कहलाता है, और सूचना या निर्देश देने में जो भी उपकरण हमारी मदद करते हैं, उन्हें इनपुट उपकरण कहते हैं. इनपुट उपकरण के उदाहरण- की-बोर्ड, माउस, बैनर, माइक्रोफोन, वेब कैमरा, बार कोड रीडर, अप्टकॉल मार्क रीडर, जोयास्टिक आदि.

प्रोसेसिंग किसे कहते हैं?

इनपुट डेटा पर प्रोसेस (कार्य) करना प्रोसेसिंग कहलाता है, और कंप्यूटर में प्रोसेसिंग का कार्य CPU करता है.

आउटपुट किसे कहते हैं?

प्रोसेसिंग के बाद प्राप्त रिजल्ट आउटपुट कहलाता है, और कंप्यूटर को रिजल्ट प्राप्त करने में जो भी उपकरण उनकी मदद करता है उसे आउटपुट उपकरण कहलाता है. सामान उपकरण के उदाहरण- मानीटर, प्रिंटर स्पीकर, हैडफ़ोन आदि .

Leave a Comment