कविता किसे कहते हैं? कविता के 5 महत्वपूर्ण घटक

कविता किसे कहते हैं

प्रिय पाठक! स्वागत है आपका the eNotes के एक नए आर्टिकल में, इस आर्टिकल में हम पढ़ेंगे कि कविता किसे कहते हैं साथ ही हम इसके कविता के महत्वपूर्ण घटक और भी पढेंगे, तो चलिए विस्तार से पढ़ते हैं कि, कविता किसे कहते हैं – कविता किसे कहते हैं काव्य, कविता या पद्य, साहित्य कि वह विधा है जिसमे मनोभावों को कलात्मक रूप से किसी भाषा के द्वारा अभिव्यक्त किया …

Read more

Sumitranandan Pant ka Jivan Parichay – सुमित्रानंदन पंत

सुमित्रानंदन पन्त का जीवन परिचय

नमस्ते दोस्तों, इस आर्टिकल में हम Sumitranandan Pant ka Jivan Parichay – सुमित्रानंदन पन्त का जीवन परिचय पढेंगे। इससे पहले हम सूरदास, तुलसीदास,रसखान, आचार्य रामचन्द्र शुक्ल, पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी और डॉ राजेंद्र प्रसाद का जीवन परिचय पढ़ चुके हैं। Sumitranandan Pant ka Jivan Parichay – सुमित्रानंदन पंत का संक्षेप में जीवन परिचय नाम सुमित्रानंदन पंत पिता का नाम पंडित गंगादत्त जन्म-स्थान बसुआ (गोविंदपुर) जन्म 20 मई, 1900 मृत्यु 28 दिसम्बर, 1977 प्रमुख रचनाएँ वीणा, ग्रन्थि, …

Read more

Biharilal ka Jivan Parichay | बिहारीलाल का जीवन परिचय

Biharilal ka Jivan Parichay

नमस्कार दोस्तों, इस आर्टिकल में हम राजा जयसिंह के दरबारी कवि और रीति काल के प्रसिद्ध कवि Biharilal ka Jivan Parichay “बिहारीलाल जी का जीवन परिचय पढेंगे”। इनसे पहले हम जयशंकर प्रसाद,  पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी,  आचार्य रामचन्द्र शुक्ल, डॉ राजेंद्र प्रसाद, रसखान, गोस्वामी तुलसीदास और सूरदास का जीवन परिचय पढ़ चुके हैं। बिहारीलाल का संक्षिप्त परिचय नाम बिहारीलाल चौबे पिता का नाम पंडित केशवराय चौबे जन्म-स्थान बसुआ (गोविंदपुर) जन्म सन् 1603 …

Read more

वरदान मांगूंगा नही : शिवमंगल सिंह ‘सुमन’

वरदान मांगूंगा नहीं

इस पोस्ट में शिवमंगल सिंह ‘सुमन’ जी द्वारा लिखित वरदान मांगूंगा नहीं नामक कविता की पंक्तियों के साथ-साथ उसका भावार्थ भी दिया गया है। यह भी पढ़ें – पुष्प की अभिलाषा वरदान मांगूंगा नहीं यह हार एक विराम है, जीवन महासंग्राम है, तिल-तिल मिटूँगा पर दया की भीख मैं लूँगा नहीं। वरदान मांगूंगा नहीं॥ स्‍मृति सुखद प्रहरों के लिए, अपने खण्डहरों के लिए, यह जान लो मैं विश्‍व की सम्पत्ति …

Read more

रसखान का जीवन परिचय | Raskhan ka Jeevan Parichay

रसखान का जीवन परिचय

नमस्ते दोस्तों, इस आर्टिकल में हम रसखान का जीवन परिचय (Raskhan ka Jeevan Parichay) पढेंगे। इससे पहले हम सूरदास, तुलसीदास, आचार्य रामचन्द्र शुक्ल और डॉ राजेंद्र प्रसाद का जीवन परिचय पढ़ चुके हैं। संक्षिप्त जीवन परिचय – रसखान रसखान का जन्म सन् 1548 में हुआ था, उनका असली नाम सैयद इब्राहिम था जो दिल्ली के रहने वाले थे। सन् 1628 के लगभग उनकी मृत्यु हुई। तो आईये एक शब्द में  रसखान का जीवन परिचय देखते …

Read more