इतनी शक्ति हमें देना दाता | Itni shakti hame dena data

इतनी शक्ति हमें देना दाता

School Prayer की सीरीज में इससे से पहले इस ब्लॉग पर वीणा वादिनी वर दे और हमको मन की शक्ति देना पब्लिश हो चुका है | आज हम इतनी शक्ति हमें देना दाता को पढेंगे |

Singer Pushpa Pagdhare, Sushma Shreshth
Music Kuldeep Singh
Song Writer Abhilash

इतनी शक्ति हमें देना दाता

इतनी शक्ति हमें देना दाता,
मनका विश्वास कमज़ोर हो ना…
हम चलें नेक रास्ते पे हमसे,
भूलकर भी कोई भूल हो ना…
हर तरफ़ ज़ुल्म है बेबसी है,
सहमा-सहमा-सा हर आदमी है |
पाप का बोझ बढ़ता ही जाये,
जाने कैसे ये धरती थमी है |
बोझ ममता का तू ये उठा ले,
तेरी रचना का ये अन्त हो ना…
हम चलें नेक…………
दूर अज्ञान के हो अन्धेरे,
तू हमें ज्ञान की रौशनी दे |
हर बुराई से बचके रहें हम,
जितनी भी दे, भली ज़िन्दगी दे |
बैर हो ना किसीका किसी से,
भावना मन में बदले की हो ना….
हम न सोचें हमें क्या मिला है,
हम ये सोचें किया क्या है अर्पण |
फूल खुशियों के बाटें सभी को,
सबका जीवन ही बन जाये मधुबन |
अपनी करुणा को जब तू बहा दे,
करदे पावन हर इक मन का कोना….
हम अन्धेरे में हैं रौशनी दे,
खो ना दे खुद को ही दुश्मनी से |
हम सज़ा पाये अपने किये की,
मौत भी हो तो सह ले खुशी से |
कल जो गुज़रा है फिरसे ना गुज़रे,
आनेवाला वो कल ऐसा हो ना….
हम चले नेक रास्ते पे हमसे,
भुलकर भी कोई भूल हो ना…
इतनी शक्ति हमें देना दाता,
मनका विश्वास कमज़ोर हो ना…

Itni shakti hame dena data

Itanee shakti hamen dena daata,
Manaka vishvaas kamazor ho na…
Ham chalen nek raaste pe hamase,
Bhoolakar bhee koee bhool ho na…
Har taraf zulm hai bebasee hai,
Sahama-sahama-sa har aadamee hai |
Paap ka bojh badhata hee jaaye,
Jaane kaise ye dharatee thamee hai |
Bojh mamata ka too ye utha le,
Teree rachana ka ye ant ho na…
Ham chalen nek…………
Door agyaan ke ho andhere,
Too hamen gyaan kee raushanee de |
Har buraee se bachake rahen ham,
Jitanee bhee de, bhalee zindagee de |
Bair ho na kiseeka kisee se,
Bhaavana man mein badale kee ho na….
Ham chalen nek…………
Hum na sochen hamen kya mila hai,
Ham ye sochen kiya kya hai arpan |
Phool khushiyon ke baaten sabhee ko,
Sabaka jeevan hee ban jaaye madhuban |
Apanee karuna ko jab too baha de,
Karade paavan har ik man ka kona….
Ham chalen nek…………
Ham andhere mein hain raushanee de,
Kho na de khud ko hee dushmanee se |
Ham saza paaye apane kiye kee,
Maut bhee ho to sah le khushee se |
Kal jo guzara hai phirase na guzare,
Aanevaala vo kal aisa ho na….
Ham chale nek raaste pe hamase,
Bhulakar bhee koee bhool ho na…
Itanee shakti hamen dena daata,
Manaka vishvaas kamazor ho na…

Leave a Comment