Months Name in Sanskrit | संस्कृत में महीनों के नाम

इस आर्टिकल में संस्कृत में महीनों के नाम – Months Name in Sanskrit दिया गया है।  इससे पहले हम महीनो के नाम हिंदी में पढ़ चुके हैं।

संस्कृत में महीनों के नाम

एक वर्ष में 12 महीने होते हैं, हिंदी महिना चैत्र मास से शुरू होकर फाल्गुन में ख़तम होता है। यह कभी समान नही रहते इसमें महीने का हिसाब सूर्य व चंद्रमा की गति पर रखा जाता है। हिन्दी महीनो को विक्रमी संवत् में गिना जाता है। विक्रमी संवत् का आरम्भ ५७ ई.पू. में हुआ था। बारह महीने का एक वर्ष और सात दिन का एक सप्ताह रखने का प्रचलन विक्रम संवत् से ही शुरू हुआ। यहाँ Months Name in Sanskrit दिए गए हैं।

Months Name in Sanskrit

चैत्र: मार्च-अप्रैल
वैशाख: अप्रैल -मई
ज्येष्ठ: मई -जून
आषाढ़: जून-जुलाई
श्रावण: जुलाई-अगस्त
भाद्रपद: अगस्त-सितम्बर
आश्विन: सितम्बर-अक्टूबर
कार्तिक: अक्टूबर-नवम्बर
मार्गशीर्ष: नवम्बर-दिसम्बर
पौष: दिसम्बर-जनवरी
माघ: जनवरी-फरवरी
फाल्गुन: फरवरी-मार्च

यह भी पढ़ें –


लेख के बारे में –

इस पोस्ट में आपने Months Name in Sanskrit महीनों के नाम को संस्कृत में पढना सिखा, महीनों के नाम को हिन्दू कैलेण्डर के अनुसार, तथा महीनों की स्पेलिंग पढने के लिए क्लिक करें, और यह जानकारी पसंद आयी हो तो इसे शेयर करें, और इस पोस्ट से रिलेटेड कुछ पूछने के लिए स्वतंत्र महसूस करें, और कमेंट में अपनी विचार लिखें तथा रोचक जानकारी पढ़ते रहने के लिए बेल आइकन दबा कर हमें सब्सक्राइब करें। अगर आप PDF चाहते हैं तो हमें टेलीग्राम पर फॉलो करें।

 

5 thoughts on “Months Name in Sanskrit | संस्कृत में महीनों के नाम”

Leave a Comment