Visheshan in Hindi : विशेषण : Visheshan Ke bhed

प्रिय पाठक! स्वागत है आपका the eNotes के नए आर्टिकल में, इस आर्टिकल में हम Visheshan in Hindi पढेंगे साथ ही हम Visheshan Ke bhed और Visheshan Ki Paribhasha पढेंगे। इससे पहले हमने संज्ञा और सर्वनाम के बारे में पढ़ लिया था। तो चलिए विस्तार से Visheshan in Hindi पढ़ते हैं –

Visheshan in Hindi: विशेषण

जैसा की आप जानते होंगे की, सर्वनाम विकारी शब्द होते हैं, लेकिन आपको बता दें की सर्वनाम विकारी और अविकारी दोनों होते हैं, लेकिन अविकारी विशेषण के रूपों में कोई परिवर्तन नहीं होता है, विशेषण वस्तु या व्यक्ति के बोध को सीमित कर देता है।

Visheshan Ki Paribhasha: परिभाषा

संज्ञा या सर्वनाम की विशेषता बताने वाले शब्द को विशेषण कहते हैं और जिसकी विशेषता बताई जा रही हो उसे विशेष्य कहते हैं। जैसे-अच्छा, बुरा, काला, गोरा, लम्बा, मोटा आदि

Visheshan in Hindi examples: उदाहरण

  • मेरी भैंस काली है।
  • मेरा दोस्त लम्बा है।
  • रोहन ईमानदार लड़का है।
  • रोहन सुंदर लिखता है।
  • मोटा लड़का हंस पड़ा।
  • शिवानी नाचती है।
  • सीता बहुत सुंदर है
  • रतन कामचोर है।
  • कल कुछ ज्यादा गर्मी थी।

Visheshan in Hindi

प्रविशेषण

वे शब्द जो विशेषण शब्द कि भी विशेषता बताते हैं, प्रविशेषण कहलाते हैं।

जैसे- तुम बहुत तेज भागते हो। इस वाक्य में तेज विशेषण शब्द तथा बहुत शब्द प्रविशेषण है।

यह भी पढ़े- कारक किसे कहते हैं, कारक के भेद

Visheshan Ke bhed: विशेषण के प्रकार

हिन्दी व्याकरण में विशेषण 4 प्रकार के होते हैं।

  1. गुणवाचक विशेषण
  2. संख्यावाचक विशेषण
  3. परिमाणवाचक विशेषण
  4. सार्वनामिक विशेषण

गुणवाचक विशेषण

जिस विशेषण शब्द से किसी का गुण या दोष प्रकट हो उसे गुणवाचक विशेषण कहते हैं। जैसे-

  • शिवम ईमानदार लड़का है।
  • मेरा भाई कपटी है।
  • उसकी गाय सुखी घांस भी खा लेती है।

संख्यावाचक विशेषण

जिस विशेषण शब्द में संख्या का बोध हो उसे संख्यावाचक विशेषण कहते हैं। जैसे-

  • श्याम के पास दो गधे हैं।
  • मेरे पास कई पेन हैं।
  • अजीत ने कक्षा में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है।
  • बैलगाड़ी को दो बैल खीचते हैं।

संख्यावाचक विशेषण को दो भागो में बाटा जा सकता है।

निश्चित संख्यावाचक:  इनसे निश्चित संख्या का बोध होता है। जैसे-दस लड़के, बीस आदमी, पचास रुपये आदि

अनिश्चित संख्यावाचक:  इनसे अनिश्चित संख्या का बोध होता है। जैसे कुछ आदमी, कई लोग, सब कुछ आदि

यह भी पढ़े – लिंग किसे कहते हैं, यह कितने प्रकार के होते हैं?

Visheshan in Hindi
Visheshan in Hindi

परिमाणवाचक विशेषण

जिस विशेषण शब्द से माप-तौल आदि का बोध हो उसे परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं। यह भी दो प्रकार के होते हैं-

निश्चित परिणाम बोधक सर्वनाम: 10 kg. चावल, 20 kg गेंहूँ आदि

अनिश्चित परिणाम बोधक सर्वनाम: थोडा दुध, बहुत पानी आदि

सार्वनामिक विशेषण

जब किसी वाक्य सर्वनाम शब्द संज्ञा से पहले आते हैं तो वहाँ सार्वनामिक विशेषण होते हैं।  इनके दो उपभेद हैं

मौलिक सार्वनामिक विशेषण:  जो सर्वनाम बिना रूपान्तर के मौलिक रूप में संज्ञा के पहले आकर उसकी विशेषता बतलाते हैं उन्हें इस वर्ग में रखा जाता है। जैसे–यह घर मेरा है, वह किताब फटी है, कोई आदमी रो रहा है।

यौगिक सार्वनामिक विशेषण: जो सर्वनाम रूपान्तरित होकर संज्ञा शब्दों की विशेषता बतलाते हैं, उन्हें यौगिक सार्वनामिक विशेषण कहा जाता है। जैसे-ऐसा आदमी नहीं देखा, कैसा घर चाहिए, जैसा देश वैसा भेष आदि।

Conclusion: इस आर्टिकल में आपने Visheshan in Hindi के साथ-साथ अपने Visheshan Ke bhed और Visheshan Ki Paribhasha भी पढ़ा। हमे उम्मीद है कि आपको यह जानकारी आवश्य समझ आयी होगा। अगर अभी भी समझने में कोई समस्या आ रही हो तो कमेंट बॉक्स में पूछें अथवा विडियो देखें।

Disclaimer:  the eNotes रिसर्च के बाद जानकारी उपलब्ध कराता है, इस बीच पोस्ट पब्लिश करने में अगर कोई पॉइंट छुट गया हो, स्पेल्लिंग मिस्टेक हो, या फिर आप-आप कोई अन्य प्रश्न का उत्तर ढूढ़ रहें है तो उसे कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएँ अथवा हमें [email protected] पर मेल करें। सामान्य हिन्दी से जुड़े अन्य आर्टिकल पढने के लिए the eNotes को टेलीग्राम पर फॉलो करें।

Leave a Comment