WINDOWS के अवयव | The Element of Windows in Hindi

Windows के कुछ मुख्य अवयव

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज खुलने के बाद जो भी मानीटर स्क्रीन पर दिखता है, उसे WINDOWS के अवयव कहते हैं।

डेस्कटॉप और वॉलपेपर-

मानीटर का स्क्रीन डेस्कटॉप तथा डेस्कटॉप के पीछे वाला बैकग्राउंड वॉलपेपर कहलाता है।

आइकॉन –

आइकॉन एक ग्राफिकल सिम्बल होते हैं, जो डेस्कटॉप पर किसी भी प्रोग्राम को पहचानने और खोलने में सहायता करते हैं।

स्टार्ट बटन –

WINDOWS के अवयव में स्टार्ट बटन भी होता है, डेस्कटॉप पर सबसे नीचे दाहिने कोने में होता है, इस बटन पर स्टार्ट लिखा होता है, या विंडोज आइकॉन होता हैं। यह कंप्यूटर की कुंजी होती है, जो किसी प्रोग्राम को खोलने में सहायक होते है। कंप्यूटर में हम जो भी प्रोग्राम इनस्टॉल करते है वह सभी हमें स्टार्ट बटन में मिलते हैं। यह कंप्यूटर में मीनू का काम करती है।

टास्कबार-

यह कंप्यूटर स्क्रीन पर सबसे नीचे होता है। यह स्टार्ट बटन के बगल में होता है, यह पतली होरिजेंटल लाइन होती है, जो कंप्यूटर पर वर्तमान में खुले फाइलो या प्रोग्रामो की सूचना देती है।

माई कंप्यूटर-

यह कंप्यूटर की तरह दिखने वालन आइकॉन होता है। यह कंप्यूटर का फाइल मैनेजर होता है, कंप्यूटर के सारे डाटा इसी में सेव रहते है, यह कई ड्राइवो में बटी होती है। कंप्यूटर में जुड़े एक्सटर्नल मेमोरी भी यही प्रदर्शित होते है।

रीसायकल बिन-

यह कंप्यूटर में Dustbin का कार्य करता है, हम कंप्यूटर जो भी फाइल डीलेट करते है, वह रीसायकल बिन में स्टोर रहता है। रीसायकल बिन से हम डिलेट हुए डाटा को फिर से रिस्टोर कर सकते है।

नाटीफिकेशन एरिया –

यह कंप्यूटर से सम्बंधित सभी सूचनाओ को हमारे सामने प्रदर्शित करता है।

डेस्कटॉप के बैकग्राउंड को बदलना–

हम डेस्टोप के बैकग्राउंड को अपनी इच्छा अनुसार बदल सकते है, डेस्कटॉप के बैकग्राउंड को बदलने के लिए डेस्कटॉप के खली क्षेत्र में माउस की राईट बटन क्लिक करके फिर प्रोपर्टीज विकल्प पर क्लिक करे। अन ओपन हुए नए डायलाग बॉक्स से आप बैकग्राउंड, थीम्स और स्क्रीन सेवर को सेट करे और OK बटन पर क्लिक करे।

दिनांक तथा समय को बदलना–

दिनांक और समय बदलने के लिए डेस्क्टॉप के नाटीफिकेशन क्षेत्र में जहाँ समय प्रदर्शित होता है, वहाँ माउस का राईट बटन क्लिक कर एड्जस्त डेट एंड टाइम को चुन ले, अब ओपन हुए डयलाग बॉक्स से डेट एंड टाइम को सेट करे OK बटन पर क्लिक करे।

Windo-

जब कभी भी किसी प्रोग्राम को ओपन करते है तो उस नए दृश्य को विंडोज कहते है।

Windo को मूव करना-

जिस भी विडो को मूव करना हो उसके टाइटल बार पर माउस का प्वाइंटर ले जाकर माउस का लेफ्ट बटन दबाकर माउस को ड्रैग करते है तो विंडो मूव होने लगता है।

विंडो को मिनिमाईज, मैक्सिमाईज और क्लोज करना-

ओपन हुए विंडो के टॉप में दाई तरफ़ तीन बटन होते है जिन्हें कण्ट्रोल बटन कहते है। मिनिमाईज बटन का प्रयोग विंडो को मिनिमाईज तथा मैक्सिमाईज बटन का प्रयोग विंडो को मैक्सिमाईज तथा ग़लत बटन का प्रयोग विंडो को बंद में किया जाता हैं।

विंडो को रिसाईज करना-

किसी भी खुले हुए विंडो के आकर को बदले के लिए उसे रिसाईज किया जाता है इसके लिए विंडो के बाहरी किनारों पर माउस का पॉइंटर ले कर जाते है। तो वह डबल हेडेड बन जाता है, उसी हेडेड पर माउस का बाया बटन दबाकर ड्रैग करने से विंडो का आकर बदलता है।

Leave a Comment